Weldone Captain England for 180 not out in 2nd cricket test at Lords

India need brave 2nd innings tomorrow on 4th day.

Siraj catches up with Root to shake his hand. The whole crowd applauds him as he walks off.

India have pulled things back nicely, though, with five wickets for just 77 runs in this session. England had the opportunity to bat India out of this Test, but they have failed to do so as India, eld by Ishant and Siraj, forced their way back in.

Still, thanks to another huge effort from Root, England have taken a lead of 27 runs. With two days to go for a second-innings shootout, you’d imagine the only way England lose from here is if India get bowled out and then bowl England out. 

The Cricket test match has been briefed in entertaining Podcast episode no. 163E. Just listen & enjoy your love for cricket.

https://anchor.fm/virender-kumar-chaudhry/episodes/P163E-KL-Rahul–Rohit-Sharma-led-from-front-in-Lords-Test-cricket-e15rv15https://anchor.fm/virender-kumar-chaudhry/episodes/P163E-KL-Rahul–Rohit-Sharma-led-from-front-in-Lords-Test-cricket-e15rv15

India displayed a Wonderful batting display. Top test cricket between India and England. India was 276/3 in Lord’s test.

 A lot of discipline and panache from the openers once again. Rohit Sharma got going first today and made up for KL Rahul’s slowness.

Anderson showed his class to get rid of Rohit on 83, but this is when Rahul took the dominant role in scoring. He is still there on an unbeaten 127 even though India has lost Pujara and Kohli.

The pitch was easier to bat on than Trent Bridge, but do not judge a surface until both sides have bowled on it. I say that because England is a limited attack.

Anderson is great of course, Robinson is very good, but after that Wood’s prominent skill is pace and pace alone doesn’t bother batters at Test level that much.

Curran is a great fifth bowler, but when he is expected to deliver ~20 solid overs, he has neither the accuracy nor the pace.

Rahul looked assured at the other end, with his combination of soft hands and patience carrying on from the Nottingham Test.
He ground it out while Rohit kept the scoring rate healthy, only opening up once he had lost his opening partner.
In trademark style, this acceleration involved jumping down to England’s spin option Moeen Ali and launching him back over his head, before bringing out a variety of punches – front and back foot – square on the offside. The show only got better later in the day, with England’s tiring bowlers seeing a full stride from him as he leaned into the kind of picturesque cover drives that he had avoided early on in a bid to play the ball as late as possible.
 
For about an hour to begin the day, England seemed to have hit their straps with James Anderson and Ollie Robinson sharing the new ball. But it soon turned out that Anderson was both their best attacking as well as a defensive bowler. With Curran rattled early and Mark Wood – who came in for the injured Stuart Broad – lacking consistency in the early parts of his spell, it was shaping up to be a long day in the field for England.
 
As per experts, India should make around 475-500 runs in this test innings. Now Rahul & Rohit have shown their solid touch with red ball for tests. They have should very good maturity to break 69 years record for the first wicket at Lords.

IND vs ENG: केएल राहुल का शतक, दूसरे टेस्ट में भारत की पकड़ मजबूत, स्टंप्स तक स्कोर 276/3

खास बातें

भारत और इंग्लैंड के बीच लॉर्ड्स में खेले जा रहे दूसरे टेस्ट के पहले दिन का खेल खत्म हो चुका है। दिन का खेल खत्म होने तक भारत ने तीन विकेट के नुकसान पर 276 रन बना लिए हैं। केएल राहुल 127 और अजिंक्य रहाणे 1 रन बनाकर नाबाद हैं। बता दें कि केएल राहुल के छठे शतक के दम पर भारत ने दूसरे टेस्ट में अपनी पकड़ मजबूत कर ली है। दूसरे टेस्ट के पहले दिन भारत ने शानदार शुरुआत की। रोहित शर्मा और केएल राहुल की सलामी जोड़ी ने टीम इंडिया को बेहतरीन शुरुआत दिलाई।

पहले विकेट के लिए रोहित (83) और राहुल के बीच 126 रनों की साझेदारी हुई। दोनों के बीच की यह साझेदारी साल 2011 के बाद एशिया से बाहर पहली ओपनिंग शतकीय साझेदारी की है।

इससे पहले साल 2010 में दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ सेंचुरियन में वीरेंद्र सहवाग और गौतम गंभीर ने शतकीय साझेदारी की थी। वहीं, केएल राहुल ने अपने टेस्ट करियर का छठा शतक जड़ा। वह लॉर्ड्स में बतौर ओपनर शतक लगाने वाले तीसरे भारतीय बल्लेबाज बने।

विराट और राहुल के बीच तीसरे विकेट के लिए 117 रनों की शतकीय साझेदारी हुई। वहीं, इंग्लैंड की तरफ से जेम्स एंडरसन ने दो जबकि ओली रॉबिन्सन ने एक विकेट लिया। बता दें कि बारिश के कारण पहले दिन का खेल आधे घंटे की देरी के साथ शुरू हुआ था। 

हिंदुस्तान की टीम बहुत अच्छा खेली। टॉप टेन बल्लेबाज बहुत ही अच्छे हैं अंदाज में खेल रहे थे।

आज खेल का दूसरा दिन उम्मीद करते हैं कि भारत किसी भी कीमत पर पीछे नहीं रहेगा क्योंकि उसके पास काफी बल्लेबाज सुरक्षित है।

केएल राहुल बड़ी पारी खेल सकते हैं अजिंक्य रहने के लिए काफी दिनों बाद अच्छा खेलने की काबिलियत दिखाने का अच्छा मौका है। बाकी भी हमारी बल्लेबाजी काफी मजबूत है।

आज आपको दोबारा बताएंगे कि हिंदुस्तान कैसा खेलता है इंग्लैंड के साथ।

जैसा कि हम सभी जानते हैं क्रिकेट का खेल अनिश्चित अदाओं का खेल है लेकिन और परंतु पर काफी आधारित होता है। हिंदुस्तान की बल्लेबाजी मजबूत है इसमें कोई दो राय नहीं है।

क्रिकेट का खेल बहुत ही रोमांच से भरा हुआ है और पहले दिन हमारे के लोग में अपना छठा शतक जड़ दिया है।

भले ही दिन की शुरूआत खराब मौसम के साथ हुई हो और विराट कोहली टॉस हार गए हों, भारतीय बल्लेबाज़ों ने कहीं ना कहीं “अंत भला तो सब भला” वाली उक्ति को फिर एक बार सही ठहरा दिया। जब दो भारतीय बल्लेबाज़ दिन के खेल का समापन कर के पवेलियन की तरफ वापस लौट रहे थे तो उसमें से एक खिलाड़ी शतकवीर केएल राहुल थे, जो आज के खेल में हुई दो शतकीय साझेदारी के सबसे महत्वपूर्ण साझेदार थे।
 
आज का खेल शुरू होने से पहले इस बात की लगभग पुष्टि हो चुकी थी कि शार्दुल ठाकुर के चोटिल होने के बाद भारत 6 स्पेशलिस्ट बल्लेबाज़ और रवींद्र जाडेजा के साथ उतरेगा और टीम में चार ऐसे गेंदबाज़ होंगे जिनमें बल्लेबाज़ी करने की क्षमता काफी कम है। यह काफी साहसी कदम था क्योंकि पिच कहीं ना कहीं गेंदबाज़ों को मदद करने वाली थी। इन परिस्थितियों में भारतीय बल्लेबाज़ असाधारण प्रदर्शन करने में कामयाब रहे। साथ ही यह खराब फॉर्म से जूझ रहे चेतेश्वर पुजारा और अजिंक्य रहाणे के लिए दबाव बढ़ाने वाला फैसला था।
 
भारत के सलामी बल्लेबाज़ों ने शानदार तरीके से पारी की शुरुआत की और 2010 के बाद पहली बार एशिया के बाहर पहले विकेट के लिए 100 से ज्यादा रन जोड़े। इसी शुरुआती साझेदारी ने भारत के लिए एक शानदार दिन की नींव रखी। पहले विकेट की साझेदारी में रोहित का योगदान ज्यादा था और वही इस साझेदारी के स्टार थे। मैच के पहले घंटे में रोहित लगातार गेंद को छोड़ रहे थे और बाहर की गेंदों को छेड़ने की कोशिश नहीं कर रहे थे।
 

ज्यादा जानकारी के लिए हमारी वेबसाइट ब्लॉग्स को चेक करें www.wondertips777.com

 

Table of Contents

Leave a Reply