Simple tips for making better life, जिंदगी में काम आने वाली कुछ अच्छी बातें

रोगों से बचाव

अगर आप अपनी दिनचर्या में ये 10 चीजें शामिल कर लें तो दुनिया का कोई भी रोग आपको छू भी नहीं पायेगा।हृदय रोग, शुगर (मधुमेह), जोड़ों के दर्द, कैंसर, किडनी, लीवर आदि के रोग आपसे कोसों दूर रहेंगे! ऐसे ग़ज़ब हैं ये,आइये जानते हैं इनके बारे में-

1. आंवला:- किसी भी रूप में थोड़ा सा आंवला हर रोज़ खाते रहे, जीवन भर उच्च रक्तचाप और हार्ट फेल नहीं होगा, इसके साथ चेहरा तेजोमय बाल स्वस्थ और सौ बरस तक भी जवान महसूस करेंगे।

2. मेथी :- मेथीदाना पीसकर रख ले। एक चम्मच एक गिलास पानी में उबाल कर नित्य पिए। मीठा, नमक कुछ भी नहीं डाले इस पानी में। इस से आंव नहीं बनेगी, शुगर कंट्रोल रहेगी जोड़ो के दर्द नहीं होंगे और पेट ठीक रहेगा।

3. छाछ :- तेज और ओज बढ़ने के लिए छाछ का निरंतर सेवन बहुत हितकर हैं। सुबह और दोपहर के भोजन में नित्य छाछ का सेवन करे। भोजन में पानी के स्थान पर छाछ का उपयोग बहुत हितकर हैं।

4. हरड़ :- हर रोज़ एक छोटी हरड़ भोजन के बाद दाँतो तले रखे और इसका रस धीरे धीरे पेट में जाने दे। जब काफी देर बाद ये हरड़ बिलकुल नरम पड़ जाए तो चबा चबा कर निगल ले। इस से आपके बाल कभी सफ़ेद नहीं होंगे, दांत 100 वर्ष तक निरोगी रहेंगे और पेट के रोग नहीं होंगे, कहते हैं एक सभी रोग पेट से ही जन्म लेते हैं तो पेट पूर्ण स्वस्थ रहेगा।

5. दालचीनी और शहद :- सर्दियों में चुटकी भर दालचीनी की फंकी चाहे अकेले ही चाहे शहद के साथ दिन में दो बार लेने से अनेक रोगों से बचाव होता है।

6. नाक में तेल :- रात को सोते समय नित्य सरसों का तेल नाक में लगाये। और 5 – 5 बूंदे बादाम रोगन की या सरसों के तेल की या गाय के देसी घी की हर रोज़ डालें.

7. कानो में तेल :- सर्दियों में हल्का गर्म और गर्मियों में ठंडा सरसों का तेल तीन बूँद दोनों कान में कभी कभी डालते रहे। इस से कान स्वस्थ रहेंगे।

8. लहसुन की कली :- दो कली लहसुन रात को भोजन के साथ लेने से यूरिक एसिड, हृदय रोग, जोड़ों के दर्द, कैंसर आदि भयंकर रोग दूर रहते हैं।

9. तुलसी और काली मिर्च :- प्रात: दस तुलसी के पत्ते और पांच काली मिर्च नित्य चबाये। सर्दी, बुखार, श्वांस रोग, अस्थमा नहीं होगा। नाक स्वस्थ रहेगी।

10. सौंठ :- सामान्य बुखार, फ्लू, जुकाम और कफ से बचने के लिए पीसी हुयी आधा चम्मच सौंठ और ज़रा सा गुड एक गिलास पानी में इतना उबाले के आधा पानी रह जाए। रात क सोने से पहले यह पिए। बदलते मौसम, सर्दी व् वर्षा के आरम्भ में यह पीना रोगो से बचाता हैं। सौंठ नहीं हो तो अदरक का इस्तेमाल कीजिये।

प्राकृतिक उपचारओं के माध्यम से शरीर को निरोगी बना सकते हैं

🪔HAPPY DIWALI🪔
Open Free Webinar
By: Mr. V K CHAUDHRY, Management Professional and Motivational Speaker

https://chat.whatsapp.com/JUZKVn0pXauKZp4R7yCKqp

👉 Learn – What is Personality?
👉 Major factors affect the development of personality
👉 How is Personality Measured?
👉 Learn the Personality change for all sorts of Reasons
👉 Learn how to Most Human Behavior is Instinct in Origin
👉 Learn how to अपने व्यक्तितव को कैसे शानदार बनाएं
👉 सीखें प्रतिभा शाली और आकर्षक व्यक्तितव को कैसे बनाएं

Topic- How To Make Breakthrough Personality
Time 👉 11 am-12 pm
Date – 15th November 2020 (Sunday)

To book your seat, please fill up the below online form.
https://forms.gle/M26gkraJnjQz4Vty6

No registration fees or any hidden charges.

Join Zoom Meeting
https://us02web.zoom.us/j/81194916857?pwd=N3N3Tk1Xb0NJejU0VXNUM2RCa2o0UT09

To stop receiving these invitations, please reply as “Unsubscribe”


धनतेरस से भाई दूज तक चलने वाले दीपावली त्यौहार की आपको, आपके पूरे परिवार और प्रियजनों को मेरी एवं मेरे परिवार की और से बहुत बहुत शुभकामनाएं। ये दीपावली आपके जीवन में ढेर सारी खुशियाँ, सुख शांति, धन-धान्य, यश कीर्ती, आरोग्य एवं समृद्धि लाये इन पुण्य दिवसों के मौके पर व वर्ष पर्यन्त आप सब सदैव खुश रहें एवं खुशियों का असीमित भंडार सदैव भरा रहे .
शुभकामनाओं, शुभेच्छाओं एवं बधाई के साथ
डा.सतवीर छिल्लर एवं परिवार

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Google photo

You are commenting using your Google account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.