आत्मविश्वास,सकारात्मकता सफलता सूत्र

आप कुछ भी कर सकते हैं?आत्मविश्वास और सकारात्मकता आपको कहीं पर भी लेकर जा सकते हैं

एक नर्स लंदन में ऑपरेशन से दो घंटे पहले मरीज़ के कमरे में घुसकर कमरे में रखे गुलदस्ते को संवारने और ठीक करने लगी।

ऐसे ही जब वो अपने पूरे लगन के साथ काम में लगी थी, तभी अचानक मरीज़ से पूछा “सर आपका ऑपरेशन कौन सा डॉक्टर कर रहा है?”

नर्स को देखे बिना मरीज़ ने अच्छे लहजे में कहा “डॉ. जबसन।”

नर्स ने डॉक्टर का नाम सुना और आश्चर्य से अपना काम छोड़ते हुए मरीज़ के पास पहुँची और पूछा “सर, क्या डॉ. जबसन ने वास्तव में आपके ऑपरेशन को स्वीकार किया हैं?

मरीज़ ने कहा “हाँ, मेरा ऑपरेशन वही कर रहे है।”

नर्स ने कहा “बड़ी अजीब बात है, विश्वास नहीं होता”

परेशान होते हुए मरीज़ ने पूछा “लेकिन इसमें ऐसी क्या अजीब बात है?”

नर्स ने कहा “वास्तव में इस डॉक्टर ने अब तक हजारों ऑपरेशन किए हैं उसके ऑपरेशन में सफलता का अनुपात 100 प्रतिशत है । इनकी तीव्र व्यस्तता की वजह से इन्हें समय निकालना बहुत मुश्किल होता है। मैं हैरान हूँ आपका ऑपरेशन करने के लिए उन्हें फुर्सत कैसे मिली?

मरीज़ ने नर्स से कहा “ये मेरी अच्छी किस्मत है कि डॉ जबसन को फुरसत मिली और वह मेरा ऑपरेशन कर रहे हैं ।

नर्स ने एक बार बार कहा “यकीन मानिए, मेरा हैरत अभी भी बरकरार है कि दुनिया का सबसे अच्छा डॉक्टर आपका ऑपरेशन कर रहा है!!”

इस बातचीत के बाद मरीज को ऑपरेशन थिएटर में पहुंचा दिया गया, मरीज़ का सफल ऑपरेशन हुआ और अब मरीज़ हँस कर अपनी जिंदगी जी रहा है।

मरीज़ के कमरे में आई महिला कोई साधारण नर्स नहीं थी, बल्कि उसी अस्पताल की मनोवैज्ञानिक महिला डॉक्टर थी, जिसका काम मरीजों को मानसिक और मनोवैज्ञानिक रूप से संचालित करना था, जिसके कारण उसे संतुष्ट करना था जिस पर मरीज़ शक भी नहीं कर सकता था। और इस बार इस महिला डॉक्टर ने अपना काम मरीज़ के कमरे में गुलदस्ता सजाते हुवे कर दिया था और बहुत खूबसूरती से मरीज़ के दिल और दिमाग में बिठा दिया था कि जो डॉक्टर इसका ऑपरेशन करेगा वो दुनिया का मशहूर और सबसे सफल डॉक्टर है जिसका हर ऑपरेशन सफल ऑपरेशन है और इन सब के साथ मरीज़ खुद सकारात्मक तरीके से सुधार की तरफ लौट आया।

आज ज्ञान ने सिद्ध कर दिया कि रोगी जितनी दृढ़ता से रोग को नियंत्रित करने का वादा करता है उतनी ही दृढ़ता से रोग पर जीत दर्ज कर सकता है , कोई भी व्यक्ति संकल्प ले तो हर समस्या को नियंत्रित कर सकता हैं।

′ कोरोना′′ को भी…

साथियों आज जब एक बीमार आदमी दवाई को लेता है तो वह डॉक्टर पर विश्वास करता है और दवाई पर जबकि असलियत यह है यह दवाई केवल 15 परसेंट से 20 परसेंट भी असर करती है 80 परसेंट मरीज का पेशेंट का आत्मविश्वास होता है।

जब हम अपना आत्मविश्वास कर लेते हैं तो हम कुछ भी पा सकते हैं

आत्मविश्वास से ही विचारों की स्वाधीनता प्राप्त होती है और इसके कारण ही महान कार्यों के सम्पादन में सरलता और सफलता मिलती है। इसी के द्वारा आत्मरक्षा होती है। जो व्यक्ति आत्मविश्वास से ओत-प्रोत है, उसे अपने भविष्य के प्रति किसी प्रकार की चिन्ता नहीं रहती। उसे कोई चिन्ता नहीं सताती।

आत्मविश्वास (Self-confidence) वस्तुतः एक मानसिक एवं आध्यात्मिक शक्ति है।[1] आत्मविश्वास से ही विचारों की स्वाधीनता प्राप्त होती है और इसके कारण ही महान कार्यों के सम्पादन में सरलता और सफलता मिलती है। इसी के द्वारा आत्मरक्षा होती है। जो व्यक्ति आत्मविश्वास से ओत-प्रोत है, उसे अपने भविष्य के प्रति किसी प्रकार की चिन्ता नहीं रहती।

उसे कोई चिन्ता नहीं सताती। दूसरे व्यक्ति जिन सन्देहों और शंकाओं से दबे रहते हैं, वह उनसे सदैव मुक्त रहता है। यह प्राणी की आंतरिक भावना है। इसके बिना जीवन में सफल होना अनिश्चित है।

जीवन में सफलता के लिए आत्मविश्वास उतना ही आवश्यक है, जितना मानव के लिए ऑक्सीजन तथा मछली के लिए पानी। बिना आत्मविश्वास के व्यक्ति सफलता की डगर पर कदम बढ़ा ही नहीं सकता। आत्मविश्वास वह ऊर्जा है, जो सफलता की राह में आने वाली अड़चनों, कठिनाइयों एवं परेशानियों से मुकाबला करने के लिए व्यक्ति को साहस प्रदान करती है। 

वर्तमान समय में अगर हमें कुछ पाना है, किसी भी क्षेत्र में कुछ करके दिखाना है, जीवन को खुशी से जीना है, तो इन सबके लिए आत्मविश्वास का होना परम आवश्यक है। आत्मविश्वास में वह शक्ति है जिसके माध्यम से हम कुछ भी कर सकते है। आत्मविश्वास से हमारी संकल्प शक्ति बढ़ती है और संकल्प शक्ति से बढ़ती है हमारी आत्मिक शक्ति। 

इमर्सन का कथन है- ”संसार के सारे युद्धों में इतने लोग नहीं हारते, जितने कि सिर्फ घबराहट से।’ अतः अपने ऊपर विश्वास रखकर ही आप दुनिया में बड़े से बड़ा काम सहज ही कर सकते हैं और अपना जीवन सफल बना सकते हैं। मधुमक्खी कण-कण से ही शहद इकट्ठा करती है। उसे कहीं से इसका भंडार नहीं मिलता। उसके छत्ते में भरा शहद उसके आत्मविश्वास और कठिन परिश्रम का ही परिणाम है

https://m-hindi.webdunia.com/my-blog/confidence-human-life-success-mind-116073000092_1.htmlhttps://m-hindi.webdunia.com/my-blog/confidence-human-life-success-mind-116073000092_1.html

जिंदगी में आत्मविश्वास कितना होना चाहिए, कितना जरूरी होना चाहिए दोस्तों। बहुत अच्छा प्रश्न है और यह मेरी युवा शक्ति एवं सभी उम्रदराज लोगों के लिए सबसे जरूरी हथियार है।

आप जीवन के संग्राम को अगर योद्धा बनकर जिएंगे तो उसका मजा ही कुछ और है वरना प्रॉब्लम्स तो किसके जीवन में नहीं होती।

जैसे कि मशहूर मोटिवेशनल स्पीकर शिव खेड़ा जी भी बताते हैं विनर डू डिफरेंटली जानी जो जीते हैं वह किसी भी काम को अपने शानदार अंदाज से पूरा करते हैं।

यहां पर मैं बता देना चाहता हूं दोस्तों जिस व्यक्ति के अंदर आत्मविश्वास नहीं है वह बहुत ही गलत चीज हो जाती है जिंदगी जीना दूभर हो जाता है।

जैसा कि मैं अपने लेखों में ब्लॉग्स पर ,यूट्यूब पर बार बार बता रहा हूं कि एटीट्यूड इज एवरीथिंग आपका रवैया ही आपकी जीत की मंजिल को निर्धारित करता है। यह एटीट्यूड कहां से आएगा आत्मविश्वास और आत्मविश्वास कहां से आएगा भगवान का नाम व अपने गुरु का नाम जपने से।

इसलिए दोस्तों सफल जिंदगी बिना आत्मविश्वास के असंभव है और आत्मविश्वास से आप आसमान से तारे भी तोड़ कर ला सकते हो। आप जरा सोचिए कि क्या आपके पास आत्मविश्वास को बढ़ाने की कोई दवाई बाहर से मिलती है काफी सोचने के बाद आप बता पाएंगे कि कदापि नहीं।

आत्मविश्वास की जो दवाई है वह है भगवान की पूजा अर्चना गुरु का नाम जाप मंत्र। जब आप भगवान की आराधना करेंगे तो ऑटोमेटिक अली आपका आत्मविश्वास सातवें आसमान पर पहुंच जाएगा।

से आपको रवैए में बदलाव मिलेगा सकारात्मक सोच मिलेगी और आप किसी के भी रोके नहीं रुक पाएंगे अच्छाई के कार्यों को करते हुए।

इसलिए बहुत अच्छे प्रश्न का सुंदर शानदार जवाब देने का प्रयास किया गया है अगर पसंद आए तो इसको अपने मित्रों में परिवार में साथियों में जरूर शेयर करें।

मेरी मेडिटेशन के ऊपर मेडिटेशन के तरीके के ऊपर बहुत अच्छा ब्लॉक भी है यूट्यूब वीडियो भी है देखेगा और जीवन के अंदर कुछ ऐसा कर जाओ कि जीते जी और ऊपर जाने के बाद में भी लोग लोहा मैंन आपके प्यार मोहब्बत काMotivational Tips by Life CoachTop of world with Life coachhttp://www.wondertips777.com


People also ask

अपनी हिम्मत बढ़ाने के क्या क्या तरीके हैं?

कौन से कारक आत्मविश्वास बढ़ाने में मदद करते हैं?

कैसे आत्मविश्वास के स्तर में सुधार करने के लिए?

आत्मविश्वास को किसी व्यक्ति की क्षमताओं, गुणों और निर्णय लेने में विश्वास की भावना के रूप में परिभाषित किया गया है।आत्मविश्वास किसी व्यक्ति के स्वास्थ्य और मनोवैज्ञानिक कल्याण के लिए बहुत महत्वपूर्ण है।आत्मविश्वास बेहतर होने से कोई भी व्यक्ति अपने निजी और व्यावसायिक जीवन में सफल हो सकता है और नए कीर्तिमान स्थापित कर सकता है।ऐसे में आज हम आपको आत्मविश्वास के फायदे और उसे बढ़ाने के पांच तरीकों के बारे में बताएंगे।इस खबर में

मनोबल कैसे बनाएं?

आत्मविश्वास क्या है in Hindiआत्मविश्वास का अर्थ एवं परिभाषाआत्मविश्वास बढ़ाने के ज्योतिषीय उपायआत्मविश्वास ” किसे कहते हैंआत्मविश्वास कैसे बढ़ाये इन हिंदीआत्मविश्वास निबंधआत्मविश्वास बढ़ाने के उपायआत्मविश्वास म्हणजे काय

🙏जय श्री कृष्णा🙏

Table of Contents

5 thoughts on “आत्मविश्वास,सकारात्मकता सफलता सूत्र

Leave a Reply